अंतरजातीय विवाह योजना महाराष्ट्र: ऑनलाइन आवेदन | एप्लीकेशन फॉर्म

नमस्कार दोस्तों स्वागत है आपका हमारे वेबसाइट पर आप जानते ही हैं‌। हम यहां पर सरकारी योजनाओं से जुड़ी जानकारी शेयर करते रहते हैं। आज हम बताने वाले हैं। अंतरजातीय विवाह योजना महाराष्ट्र के बारे में विस्तार से जानने के लिए आपको यह लेख पूरा ध्यान से पढ़ना हगा, तो चलिए दोस्तों शुरू करते हैं और सीखते हैं। अंतर राज्य विवाह योजना क्या है? और इसमें कैसे अप्लाई कर सकते हैं।

अंतरजातीय विवाह योजना महाराष्ट्र राज्य सरकार द्वारा शुरू किया गया है। जिसमें इंटर कास्ट मैरिज को प्रोत्साहित करने के लिए एवं जाति भेदभाव को जड़ से खत्म करने के लिए इस योजना को शुरू किया गया है। इस योजना के तहत इंटर कास्ट मैरिज करने वाले लोगों को ₹50000 की प्रोत्साहन राशि दी जा रही है।

बता दें इस साल राज्य सरकार द्वारा बढ़ाकर ₹300000 कर दिया गया है। अंतरजातीय विवाह योजना महाराष्ट्र के तहत राज्य का कोई भी जोड़ा जो inter-caste विवाह करने जा रहा है। और जिस में पति या पत्नी में से कोई एक अलग जाति का है। तब उसे प्रोत्साहन के रूप में ₹300000 मिलेंगे।

ये भी पढ़े – यूपी भाग्यलक्ष्मी योजना: ऑनलाइन आवेदन फॉर्म, UP Bhagya Laxmi Yojana

Maharashtra Inter-Caste Marriage Scheme

महाराष्ट्र राज्य सरकार द्वारा इस योजना को जनरल कैटेगरी का लड़का या लड़की अनुसूचित जाति के लड़का या लड़की से शादी करते हैं। तो उन्हें सरकार के द्वारा इस योजना के तहत लाभ दिया जाएगा। इस योजना का लाभ महाराष्ट्र के केवल वे जोड़ें ले सकते हैं। जिन्होंने हिंदू विवाह अधिनियम 1955 या विशेष विवाह अधिनियम 1954 के अंतर्गत अपनी शादी का पंजीकरण कराया है।

महाराष्ट्र इंटर कास्ट मैरिज स्कीम के अंतर्गत लाभार्थी जोड़ो को मिलने वाली रकम केंद्र सरकार और राज्य सरकार द्वारा फंड किया जाएगा। यह धनराशि राज्य सरकार और केंद्र सरकार द्वारा 50-50% दी जाएगी। अगर आप इस योजना के तहत लाभ लेना चाहते हैं तो आपको इस योजना के लिए आवेदन करना होगा।

अंतरजातीय विवाह योजना महाराष्ट्र

अंतरजातीय विवाह योजना महाराष्ट्र का उद्देश्य

दोस्तों आप जानते ही हैं कि हमारे पूरे देश में जाति को लेकर भेदभाव बहुत बढ़ता जा रहा है! किंतु सरकार समय-समय पर इस भेदभाव को कम करने के लिए; बहुत सी स्कीम और कई नई योजनाएं बनाती रहती है। इनमें से एक योजना अंतरजातीय विवाह योजना भी है।

बता दें इस योजना के तहत इंटर कास्ट मैरिज करने वाले चोरों को सरकार द्वारा ₹300000 की धनराशि प्रोत्साहन के रूप में दी जाएगी। इस योजना के जरिए देश में अंतरजातीय शादी को लेकर भेदभाव को कम करना है। महाराष्ट्र अंतरजातीय विवाह योजना सेना केवल समाज में अंतर जाति है। शादी को बढ़ावा मिलेगा बल्कि योग्य दंपति को प्रोत्साहन धनराशि भी दी जाएगी।

ये भी पढ़े – छत्तीसगढ़ सौर सुजला योजना: ऑनलाइन आवेदन, एप्लीकेशन फॉर्म, Saur Sujala Yojana

Inter-Caste Marriage Scheme Highlights

योजना का नाम अंतरजातीय विवाह योजना महाराष्ट्र
इनके द्वारा शुरू किया गया है महाराष्ट्र सरकार
लाभार्थी राज्य के इंटर-कास्ट मैरिज करने वाले लाभार्थी
उद्देश्य प्रोत्साहन राशि प्रदान
ऑफिसियल वेबसाइट https://sjsa.maharashtra.gov.in/en/schemes-page?scheme_nature=All&Submit=Submit&page=10

Inter-Caste Marriage Scheme की विशेषताएं

  • इस योजना में राज्य सरकार द्वारा 50,000 रूपये और डॉ आंबेडकर फाउंडेशन के द्वारा 2.50 लाख रूपये मिलाकर कुल 3 लाख रूपये की राशि लाभार्थी को दी जायेंगी।
  • Inter-Caste Marriage Scheme के ज़रिये जातिगत भेदभाव को कम कर सभी धर्मों में समानता लाना।
  • यह राशि विशेष रूप से उन युवक या युवती को दी जाएगी जिन्होंने अनूसूचित जाति या जनजाति के युवक व युवती से विवाह किया हो।
  • महाराष्ट्र अंतरजातीय विवाह योजना के तहत लाभार्थियों को प्रदना की जाने वाली धनराशि सीधे लाभार्थी के बैंक अकाउंट में ट्रांसफर की जाएगी ।इसलिए लाभार्थी का बैंक अकाउंट होना चाहिए तथा बैंक अकाउंट आधार कार्ड से लिंक होना चाहिए।
  • इस योजना के अंतर्गत सालाना आय की सीमा को भी खत्म कर दिया है। जिससे ज्यादा-से-ज्यादा लोग अंतर्जातीय विवाह योजना का लाभ उठा सके।

ये भी पढ़े – मध्यप्रदेश हम छू लेंगे आसमां योजना: Hum Choo Lenge Aasman Yojana

अंतरजातीय विवाह योजना महाराष्ट्र की पात्रता

  • आवेदक महाराष्ट्र का स्थायी निवासी होना चाहिए।
  • अंतरजातीय  विवाह योजना में मिलने वाली राशि प्राप्त करने के लिए युवक और युवती की उम्र क्रमशः 21 वर्ष और 18 वर्ष से कम नहीं होना चाहिए।
  • अंतरजातीय विवाह योजना महाराष्ट्र का हिस्सा बनने वाले विवाहित जोड़े में से किसी भी एक का अनूसूचित जाति या जनजाति से सम्बन्ध रखना अनिवार्य है।
  • केंद्र और राज्य सरकार द्वारा मिलने वाली प्रोत्साहन राशि प्राप्त करने के लिए विवाहित जोड़े का कोर्ट मैरिज करना अनिवार्य है।
  • इंटर-कास्ट मैरिज स्कीम के तहत यदि कोई अनुसूचित जाति या जनजाति का व्यक्ति किसी पिछड़े वर्ग या सामान्य वर्ग के युवक या युवती से विवाह करता है, तो केवल वे ही इस योजना का लाभ उठा सकते हैं।

अंतरजातीय विवाह योजना के दस्तावेज़

  • आधार कार्ड
  • बैंक अकाउंट पासबुक
  • जाति प्रमाण पत्र
  • आयु प्रमाण पत्र
  • कोर्ट मैरिज का प्रमाण पत्र
  • मोबाइल नंबर
  • पासपोर्ट साइज फोटो

अंतरजातीय विवाह योजना महाराष्ट्र में आवेदन कैसे करे ?

  • सर्वप्रथम आवेदक को सामाजिक न्याय और विशेष सहायता विभाग, महाराष्ट्र सरकार की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाना होगा! ऑफिसियल वेबसाइट पर जाने के बाद आपके समाने होम पेज खुल जायेगा ।
  • इस होम पेज पर आपको अंतरजातीय विवाह योजना का ऑप्शन दिखाई देगा! आपको इस ऑप्शन पर क्लिक करना होगा; ऑप्शन पर क्लिक करने के बाद आपके सामने कंप्यूटर स्क्रीन पर अगला पेज खुल जायेगा ।
  • इस पेज पर आपको रजिस्ट्रेशन फॉर्म खुल जायेगा! इस फॉर्म में आपको पूछी गयी सभी जानकारी जैसे नाम,विवाह की तारीक आधार नंबर आदि भरनी होगी।
  • सभी जानकारी भरने के बाद आपको अपने सभी दस्तावेज़ों को अपलोड करना होगा! उसके बाद आपको सबमिट के बटन पर क्लिक करना होगा। इस तरह आपका ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन हो जायेगा।

ये भी पढ़े –  उत्तर प्रदेश मुखबिर योजना: Uttar Pradesh Mukhbir Yojana

ये भी पढ़े…

आखिरी शब्द

उम्मीद करते हैं दोस्तों आपको अंतरजातीय विवाह योजना महाराष्ट्र के बारे में जानकारी मिल गई होगी! अगर आपको हमारी इस लेख से थोड़ी सी भी जानकारी हैं; तो आप अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिए और उन्हें भी पढ़ने का मौका दीजिए धन्यवाद।

One Comment

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *